सदस्य लॉगिन - उपयोगकर्ता का पंजीकरण - फ्रंट पेज के रूप में सेटअप करें - पसंदीदा में जोड़े - साइट मैप भारत में 45 नए डेटा केंद्र बनाने की योजना, 2025 तक डेटा सेंटर की मांग 2,100 मेगावाट होने की उम्मीद!

भारत में 45 नए डेटा केंद्र बनाने की योजना, 2025 तक डेटा सेंटर की मांग 2,100 मेगावाट होने की उम्मीद

समय:2022-10-07 12:20:52 स्रोत:जिगोंग हाओई नेटवर्क लेखक:ज़ॉन्गवेई पढ़ना:444दूसरे दर्जे का

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदMasik Shivratri 2022: आज है मासिक शिवरात्रि व्रत, जानिए शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व******Highlightsहर माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को मासिक शिवरात्रि व्रत (Masik Shivratri)किया जाता है। लिहाजा माघ मास की मासिक शिवरात्रि आज (27 जून) सोमवार को है। इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा का विशेष महत्व होता है। मान्यता है कि जो भक्त मास शिवरात्रि का व्रत करते हैं, भगवान शिव उनसे प्रसन्न होकर उनके सभी कामों को सफल बनाते हैं। तो आइए जानते हैं मासिक शिवरात्रि का शुभ मुहूर्त, पूजा विधि और महत्व।मासिक शिवरात्रि हर महीने में एक बार आती है। इस तरह से पूरे साल में 12 मासिक शिवरात्रि होती है। मान्यता है कि इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती का व्रत रखने से जीवन की सभी बाधाएं दूर हो जाती हैं। इसके साथ ही सभी मनोकामनाएं भी पूरी हो जाती हैं।

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदWho invented the exam: क्या आपको भी पसंद नहीं EXAM देना? जानिए दुनिया में किसने की थी इसकी खोज, पहली बार क्यों पड़ी परीक्षा का जरूरत******Highlights आप बचपन से परीक्षा देते आ रहे हैं क्या आपने सोचा है कि परीक्षा की खोज किसने की। जिसके कारण पूरी दुनिया में अब किसी भी स्कुल में दाखिला लेना हो या नौकरी पाना हो, आपको परीक्षा के रास्ते गुजरना ही पड़ता है तो चलिए आपको बताते हैं कि इस परीक्षा की खोज किसने की थी।परीक्षा की अवधारणा का आविष्कार 19वीं शताब्दी के अंत में हेनरी फिशेल नामक एक अमेरिकी व्यवसायी ने किया था। पहली परीक्षा चीन में आयोजित की गई थी और यह परीक्षा की अवधारणा को अपनाने वाला पहला देश था। चीन द्वारा आयोजित पहली परीक्षा को इम्पीरियल परीक्षा के रूप में जाना जाता था। परीक्षा का अर्थ है किसी विषय का निरीक्षण, मूल्यांकन, निरीक्षण या अध्ययन करना। इनका संचालन किसी विशेष विषय के विद्वानों द्वारा या वैज्ञानिकों या शोधकर्ताओं द्वारा किया जाता है। आज की दुनिया में हम परीक्षा को किसी विशेष विषय के बारे में लोगों की समझ का आकलन करने के लिए एक परीक्षा के रूप में जानते हैं।1853 में भारत में परीक्षाएं शुरू की गईं। इससे पहले सिविल सेवकों की नियुक्ति ईस्ट इंडिया कंपनी के निदेशकों द्वारा की जाती थी जो नामांकन के आधार पर भी होती थी। 1853 में इंग्लैंड की संसद ने नामांकन की प्रणाली को समाप्त कर दिया। इसलिए सिविल सेवकों का चयन परीक्षा के आधार पर किया गया था। हर साल परीक्षाएं लंदन में आयोजित की जाती थीं। उम्मीदवारों को घुड़सवारी परीक्षा भी उत्तीर्ण करनी थी जो परीक्षा का अनिवार्य हिस्सा था। ईस्ट इंडिया कंपनी के पतन के कारण ब्रिटिश सिविल सेवा का उदय हुआ जिसने जिम्मेदारियों को संभाला। भारतीय सिविल सेवा परीक्षा भारत और इंग्लैंड दोनों में एक साथ आयोजित की जाती थी जो लोक सेवा आयोग और हाउस ऑफ कमीशन के प्रस्ताव जैसे सामाजिक सुधारों के कार्यान्वयन के बाद हासिल की गई थी।भारत में हर नौकरी, संस्थान या संगठन के लिए कई परीक्षाएं होती हैं। कुछ परीक्षाएं सरकार द्वारा आयोजित की जाती हैं और उनमें से कुछ निजी संगठनों द्वारा आयोजित की जाती हैं। स्कूल जैसे किसी भी शैक्षिक क्षेत्र में, महत्वपूर्ण परीक्षाएं उच्च माध्यमिक और वरिष्ठ माध्यमिक परीक्षाएं हैं। आगे की पढ़ाई के लिए और हमारे वांछित कॉलेज में प्रवेश के लिए प्रतियोगी परीक्षाएं हैं। निजी और सरकारी परीक्षाओं के लिए अलग-अलग परीक्षाएं होती हैं। सबसे आम उदाहरण इंजीनियरिंग के लिए संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) और राष्ट्रीय प्रवेश सह पात्रता परीक्षा (एनईईटी) हैं। कई अन्य प्रकार की परीक्षाएं हैं जो नीचे सूचीबद्ध हैं।- यह भारत में एक राष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगी परीक्षा है। यह भारत सरकार की शीर्ष सिविल सेवा है। परीक्षा के लिए अर्हता प्राप्त करने वाले उम्मीदवारों को भारतीय विदेश सेवा (IFS), भारतीय पुलिस सेवा (IPS), भारतीय प्रशासनिक सेवा (IAS), आदि में विभिन्न पद या रैंक दिए जाते हैं। यह UPSC द्वारा आयोजित किया जाता है। ये भारत में सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक मानी जाती है।- कर्मचारी चयन आयोग, यह एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो साल में एक बार चार चरणों में आयोजित की जाती है। टियर I, II, III और IV। SSC कई सरकारी पदों जैसे रेलवे, विदेश मंत्रालय आदि के लिए भर्ती करता है।- राष्ट्रीय रक्षा अकादमी परीक्षा, सेना, नौसेना और वायु सेना के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए आयोजित की जाती है। स्नातक में भौतिकी, रसायन विज्ञान और गणित जैसे विषयों वाले उम्मीदवार परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं।- संयुक्त प्रवेश परीक्षा, राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी द्वारा आयोजित एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है। उम्मीदवार भारत में विभिन्न इंजीनियरिंग और आर्किटेक्चर पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के लिए यह परीक्षा दे सकते हैं।- राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा, यह पूरे भारत में उम्मीदवारों के लिए विभिन्न एमबीबीएस / बीडीएस पाठ्यक्रमों में प्रवेश लेने के लिए आयोजित की जाती है। यह परीक्षा साल में एक बार आयोजित की जाती है। 12वीं में जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, भौतिकी और अंग्रेजी वाले उम्मीदवार इन परीक्षाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं।- डिजाइन के लिए सामान्य प्रवेश परीक्षा, आईआईटी बॉम्बे द्वारा वर्ष में एक बार आयोजित की जाती है। BE/B.Tech/B.Arch में स्नातक डिग्री वाले उम्मीदवार इन परीक्षाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं। इस परीक्षा के लिए योग्य उम्मीदवार डिजाइन और पीएच.डी में मास्टर डिग्री के लिए नामांकन कर सकते हैं।- कॉमन एडमिशन टेस्ट, एक राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा है जो साल में एक बार आयोजित की जाती है। यह प्रवेश के लिए भारत प्रबंधन संस्थान द्वारा आयोजित किया जाता है- इंजीनियरिंग में ग्रेजुएट एप्टीट्यूड टेस्ट, यह स्नातक और स्नातकोत्तर सहित विभिन्न इंजीनियरिंग पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयोजित किया जाता है। यह भारत की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक है।भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदUber दे रही है कोरोना का टीका लगवाने के लिए फ्री राइड, बुक करने का ये है तरीका******UBERकोरोना संकट से जूझ रहे भारत में इस समय कोरोना का वैक्सीनेशन हो रहा है। पहले चरण में फ्रंटलाइन वर्कर्स को वैक्सीन लगवाई गई। वहीं दूसरे चरण में 60 साल से अधिक उम्र के सीनियर सिटीजन और 45 साल से अधिक की उम्र के गंभीर बीमारी से पीड़ित लोग शामिल हैं। वहीं तीसरे चरण में अब 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका लगाया जाएगा।इस बीच टैक्सी सेवा देने वाली कंपनी उबर एक खास पेशकश लेकर आया है। इसके तहत उबर वैक्सीनेशन सेंटर्स से यूजर्स को फ्री राइड ऑफर कर रहा है। उबर ने 10 करोड़ रुपये की फ्री राइड देने का वादा किया है। हालांकि, यह केवल उन नागरिकों के लिए पेश किया जाएगा जो किन्हीं कारणों से वैक्सीनेशन सेंटर तक जाने में असमर्थ हैं।उबर ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा, “ये फ्री राइड कमजोर नागरिकों को वैक्सीनेशन अभियान के दूसरे चरण में ऑफिशियल वैक्सीनेशन सेंटर्स की यात्रा करने में मदद करने के लिए दी जाएगी। सह-रुग्णता वाले 60 और 45+ उम्र का कोई भी भारतीय नागरिक अब आसानी से रिडीम किए गए प्रोमो कोड के माध्यम से नजदीकी ऑफिशियल वैक्सीनेशन सेंटर तक जाने के लिए इन फ्री राइड का उपयोग कर सकता है।”कंपनी ने बताया कि उबर ने कमजोर लोगों और बुजुर्गों को वैक्सीनेशन सेंटर्स तक पहुंचाने के लिए एनजीओ जैसे रॉबिन हुड आर्मी और अन्य के साथ भागीदारी की है। दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, चंडीगढ़, उत्तराखंड, पंजाब, कर्नाटक, तमिलनाडु, केरल और दूसरे राज्यों में फ्री राइड योजना शुरू की गई है।

भारत में 45 नए डेटा केंद्र बनाने की योजना,  2025 तक डेटा सेंटर की मांग 2,100 मेगावाट होने की उम्मीद

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदDelhi Metro: इंडियन आर्मी और DMRC ने सेना के जवानों और उनके परिजनों के लिए बनाया रेस्ट हाउस******Highlightsभारतीय सेना ने दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) के सहयोग से सेना में सेवारत और रिटायर्ड कर्मचारियों और उनके परिजनों के लिए अत्याधुनिक रेस्ट हाउस बनाया है। यह आराम गृह उन सैनिकों व सैनिकों के परिजनों के लिए होगी जो यहां बेस अस्पताल में इलाज के लिए आते हैं या एक से दूसरे शहर जाने के दौरान यहां रह सकेंगे।इस रेस्ट हाउस में 46 डबल बेड वाले कमरे, 4 डोरमेट्री हैं, जिनमें प्रत्येक में 13 बेड और एक मेस है। यह सुविधा सेवारत और सेवानिवृत्त सेनाकर्मियों और उनके परिजनों, विशेष रूप से इलाज के सिलसिले में बेस अस्पताल जाने वालों के लिए उपलब्ध होगा। इस सुविधा का उद्घाटन गुरुवार, 25 अगस्त को पश्चिमी कमान के जीओसी इन कमांड द्वारा किया गया था। ऐसा ही एक और रेस्ट हाउस खानपुर में बनाया जा रहा है।10 करोड़ रुपए की लागत से बना है यह रेस्ट हाउसइसका निर्माण वर्ष 2014 में लाल किला के पास DMRC को सौंपी गई भूमि के लिए EVI के रूप में किया गया है। इस परियोजना को 2018 में अंतिम रूप दिया गया था और निर्माण फरवरी 2020 में शुरू हुआ था। यह परियोजना अंततः 15 अगस्त 2022 को पूरी हुई। बता दें कि इस परियोजना के लिए DMRC को शुरू में 8 करोड़ रुपए आवंटित हुए थे। हालांकि, कुछ परिवर्तनों के बाद इस परियोजना को अंततः 10 करोड़ रुपए की लागत से पूरा किया गया। एक कल्याणकारी परियोजना होने के नाते, DMRC ने 2 करोड़ रुपए का अतिरिक्त योगदान दिया है। कम रख-रखाव सुनिश्चित करने के लिए बिटुमेन रोड की जगह पक्की सड़क बिछा दी गई है। प्रत्येक कमरे, छात्रावास और रसोई में अलग-अलग ऊर्जा मीटर के साथ गीजर लगाए गए हैं।ऐसे कर सकते है रेस्ट हाउस की बुकिंगरेस्ट हाउस की बुकिंग पहले आओ पहले पाओ के आधार पर होगी और दिल्ली/एनसीआर में इलाज के लिए आने वाले व्यक्तियों को प्राथमिकता दी जाएगी। बुकिंग के लिए सिविल टेलीफोन लाइन भी दी गई है, जिसे हेल्प डेस्क से चौबीसों घंटे चलाया जाएगा। अतिथि कक्षों की ऑनलाइन बुकिंग "अरमान" ऐप के माध्यम से भी की जा सकती है जिसका उपयोग सैनिक व्यापक रूप से करते हैं। यह सुविधा परिवहन के सभी साधनों से अच्छी तरह से जुड़ी हुई है जहाँ बस स्टैंड गेट के ठीक बाहर है और दिल्ली कैंट मेट्रो स्टेशन पैदल दूरी पर है। यह सुविधा हर समय समर्पित सुरक्षा के साथ मांडे रोड पर है।भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदWorld Organ Donation Day 2022: क्या है 'वर्ल्ड ऑर्गन डोनेशन डे' से जुड़ा इतिहास, महत्व और इससे जुड़े नियम?******Highlights हर साल 13 अगस्त यानी आज के दिन ‘वर्ल्ड ऑर्गन डोनेशन डे’ के रूप में मनाया जाता है। यह दिन लोगों का जीवन बचाने के लिए अपने स्वस्थ अंगों को डोनेट कर, प्रोत्साहित करने के लिए किया जाता है। नेशनल हेल्थ पोर्टल के मुताबिक भारत में लगभग हर साल 5 लाख लोगों की मौत सही समय पर ऑर्गन न मिलने की वजह से होती है। एक इंसान ऑर्गन डोनेट कर न जानें कितने लोगों को नया जीवन दे सकता है। किडनी, हार्ट, आंखें, फेफड़े आदि जैसे अंग दान करने से कई मासूम जानें बच जाती हैं। भारत सरकार द्वारा लगातार लोगों को अंगदान करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। भारत में 27 नवंबर को 'ऑर्गन डोनेशन डे' मनाया जाता है। स्वास्थ्य मंत्रालय की मानें तो 65 वर्ष की आयु तक व्यक्ति अंग दान कर सकता है।दुनिया में पहली बार सफल ऑर्गन डोनेशन अमेरिका में 1954 में किया गया था। रोनाल्ड ली हेरिक नाम के एक व्यक्ति ने अपने जुड़वां भाई को साल 1954 में अपनी एक किडनी दान की थी। सबसे पहली बार उनका यह किडनी ट्रांसप्लांट डॉक्टर जोसेफ मरे ने किया। जिसके लिए 1990 में डॉक्टर जोसेफ मरे को फिजियोलॉजी या मेडिसिन में नोबेल पुरस्कार भी मिला था।'वर्ल्ड ऑर्गन डोनेशन' का मुख्य उद्देश्य गंभीर रूप से बीमार लोगों की जान बचाना है। किसी व्यक्ति की जान बचाने में अंगदान महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। चिकित्सा विज्ञान ने अंगदान के क्षेत्र में सुधार कर कई मिथकों को खत्म किया है। अब किसी भी उम्र का व्यक्ति अपने अंगों का दान कर सकता है। वर्तमान समय में लोग अंग दान को लेकर बहुत जागरूक हुए हैं और इसके महत्व को बहुत अच्छी तरह समझ रहे हैं। इसलिए इसका सदुपयोग करते हुए अपने अंगों का दान कर रहे हैं।अंग दान के दो रूप हैं, पहले रूप में जीवित व्यक्ति किडनी और लीवर का एक हिस्सा अंग दान कर सकते हैं। कोई बजी इंसान एक किडनी से जीवित रह सकता है और शरीर में लीवर ही एकमात्र ऐसा अंग है जो खुद को फिर से उत्पन्न करने के लिए जाना जाता है। इसलिए जीवित रहते हुए आप किसी की जान बचाने के लिए इन अंगों को ट्रांसप्लांट कर सकते हैं।मरने के बाद भी ऑर्गन डोनेशन किया जाता है। डॉक्टर जिस व्यक्ति के ब्रेन को डेड घोषित कर देते हैं उनका अंग दान किया जाता है। डेड बॉडी के अंगों को जीवित व्यक्ति में ट्रांसप्लांट किया जाता है।अंगदाता की मौत के बाद उसके अंग जैसे हृदय, लिवर, गुर्दे, आंत, फेफड़े, आंखें और अग्न्याशय को दूसरे इंसान में ट्रांसप्लांट कर सकते हैं।ऑर्गन डोनेशन के लिए किसी भी व्यक्ति का का स्वस्थ होना सबसे जरूरी है। जीवित अंगदान में मधुमेह, किडनी या हृदय रोग, कैंसर और एचआईवी आदि से पीड़ित लोगों को बाहर रखा जा सकता है। ब्रेन डेड व्यक्ति को एचआईवी, कैंसर, डायबिटीज, किडनी और हृदय रोगों से पीड़ित नहीं होना चाहिए। कोई भी बीमार व्यक्ति ऑर्गन डोनेशन नहीं कर सकता। जो लोग HIV, कैंसर जैसे बीमारी से जूझ रहे हैं, वे अंग दान नहीं कर सकते।जन्म से लेकर 65 वर्ष तक के व्यक्ति जिन्हें ब्रेन डेड घोषित किया जा चुका हो, उनका ऑर्गन डोनेशन किया जा सकता है। ब्रेन डेड साबित होने या मृत्यु के बाद कितने घंटे में कौन सा अंग ट्रांसप्लांट हो जाना चाहिए यह जानना जरूरी है।भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदब्रेस्ट कैंसर से लड़ रही हैं Mahima Chaudhry, तस्वीरें देख पहचानना हुआ मुश्किल******Highlights1997 की फिल्म 'परदेस' से बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने वाली अभिनेत्री महिमा चौधरी (Mahima Chaudhry) ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं। इस बात की जानकारी बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर ने उनका एक वीडियो शेयर कर दियाहै। महिमा चौधरी इस वीडियो में बताते हुए नजर आ रही हैं कि किस तरह अनुपम खेर ने उन्हें एक प्रोजेक्ट के लिए कॉल किया था। इसके बाद उन्होंने अनुपम को अपनी बीमारी के बारे में बताया। इस दौरान महिमा काफी भावुक दिखीं।आगामी प्रोजेक्ट में अभिनेत्री के साथ काम कर रहे अनुपम खेर ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर महिमा के स्वास्थ्य के बारे में अपडेट साझा किया है। उन्होंने वीडियो शेयर करते हुए लिखा - 'महिमा चौधरी के साहस और कैंसर की कहानी: मैंने अपनी 525 वीं फिल्म द सिग्नेचर में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए महिमा चौधरी को एक महीने पहले अमेरिका से कॉल किया था। हमारी बातचीत में पता चला कि महिमा ब्रेस्ट कैंसर से जूझ रही हैं।'अनुपमने आगे लिखा - 'उनका जीवन जीने का तरीका और उनका एटिट्यूड दुनियाभर की महिलाओं को जीवन जीने की एक नई प्रेरणा दे सकता है। वो चाहती थीं कि मैं उनकी इस जर्नी के बारे में सबके सामने लाऊं। उन्होंने मेरी तारीफ की लेकिन मैं ये बोलना चाहता हूं की महिमा तुम मेरी हीरो हो। दोस्तों महिमा के लिए प्यार, दुआ करें। अब वो वापसी कर रही हैं। वो दोबारा उड़ान भरने के लिए तैयार हैं।अब आपके पास मौका है ब्रिलियंस को पाने का। जय हो।'आपको बता दें कि महिमा चौधरी ने 'दाग: द फायर', 'कुरुक्षेत्र', 'धड़कन', 'लज्जा', 'बागबान', 'ओम जय जगदीश', 'दिल है तुम्हारा' जैसी फिल्मों में अभिनय किया है। उन्हें आखिरी बार 2016 में आई फिल्म 'डार्क चॉकलेट' में देखा गया था।

भारत में 45 नए डेटा केंद्र बनाने की योजना,  2025 तक डेटा सेंटर की मांग 2,100 मेगावाट होने की उम्मीद

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदRCB vs GT : हार्दिक पांड्या का बड़ा फैसला, कोहली का पसंदीदा खिलाड़ी बाहर******आईपीएल 2022 में आज एक बेहद अहम मुकाबला है। जीत के रथ पर सवार हार्दिक पांड्या की कप्तानी वाली गुजरात टाइटंस का मुकाबला फॉफ डुप्लेसी की कप्तानी वाली आरसीबी से है। गुजरात टाइटंस तो इस वक्त आईपीएल 2022 की प्वाइंट्स टेबल में शिखर पर बैठी है। गुजरात टाइटंस इस बार पहली बार आईपीएल खेल रही है और ये टीम ऐसी पहली टीम है, जिसने प्लेऑफ में सबसे पहले अपनी जगह सुरक्षित की थी। आज का ये मैच आरसीबी के लिए बहुत जरूरी है। आईपीएल 2022 की प्वाइंट्स टेबल की बात करें तो गुजरात टाइटंस इस वक्त 13 मैच खेल चुकी है और इसमें से टीम ने 10 मैच जीते हैं, टीम 20 अंक लेकर टॉप पर काबिज है। वहीं आरसीबी की बात करें तो आरसीबी ने 13 में से सात मैच जीते हैं और टीम के पास 14 अंक हैं। आरसीबी ने अगर आज का मैच जीत लिया तो टीम फिर से टॉप 4 में पहुंच जाएगी और बाकी टीमों के लिए मुश्किल हो जाएगी।आज के मैच में गुजरात टाइटंस के कप्तान हार्दिक पांड्या ने टॉस जीत लिया है और उन्होंने पहले बल्लेबाजी का फैसला किया है। यानी आरसीबी को गुजरात टाइटंस की ओर से दिए गए टारगेट का पीछा करना होगा। कप्तान हार्दिक पांड्या ने बताया कि उनकी टीम में आज एक बदलाव किया गया है। लॉकी फर्ग्यूसन आज का मैच खेल रहे हैं, अल्जारी जोसफ आज नहीं खेल रहे हैं। वहीं आरसीके कप्तान फॉफ डुप्लेसी ने बताया कि उनकी टीम में एक बदलाव किया गया है। मोहम्मद सिराज आज के मैच की प्लेइंग इलेवन में नहीं हैं, उनकी जगह सिद्धार्थ कौल खेलते हुए नजर आएंगे।विराट कोहली, फाफ डु प्लेसिस (कप्तान), रजत पाटीदार, ग्लेन मैक्सवेल, महिपाल लोमरोर, दिनेश कार्तिक (विकेट कीपर), शाहबाज अहमद, वनिन्दु हसरंगा, हर्षल पटेल, सिद्धार्थ कौल, जोश हेजलवुडगुजरात टाइटंस की प्लेइंग इलेवन : रिद्धिमान साहा (विकेट कीपर), शुभमन गिल, मैथ्यू वेड, हार्दिक पांड्या (कप्तान), डेविड मिलर, राहुल तेवतिया, राशिद खान, रविश्रीनिवासन साई किशोर, लॉकी फर्ग्यूसन, यश दयाल, मोहम्मद शमीभारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदMonkeypox News: मंकीपॉक्स का अनोखा केस सामने आया, इंसान के संपर्क में आने से कुत्ता संक्रमित, WHO ने दी ये सलाह******दुनियाभर में मंकीपॉक्स को लेकर लोगों में घबराहट बनी हुई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार इस साल अब तक 80 देशों में 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। भारत भी इससे अछूता नहीं रहा है। इसी बीच मंकीपॉक्स का एक ऐसा अनोखा मामला सामने आया है, जिसने डब्ल्यूएचओ के होश उड़ा दिए हैं। दरअसल, फ्रांस की राजधानी पेरसि में मंकीपॉक्स के एक मामले ने हैरान कर दिया है। यहां इंसान के माध्यम से मंकीपॉक्स का वायरस एक कुत्ते तक पहुंच गया है। यह दुनिया का पहला दुर्लभ मामला है। इस बारे में मेडिकल रिसर्च से जुड़ी प्रतिष्ठित रिसर्च जर्नल 'लांसेट' ने रिपोर्ट प्रकाशित की है। वैज्ञानिकों के मुताबिक अगर मंकीपॉक्स अलग आबादी में फैलता है तो इसके विकसित होकर अलग तरह से म्यूटेट होने की संभावना है।WHO ने जताई चिंता, जानवरों के संपर्क में न आने की दी सलाहइंसान के माध्यम से कुत्ते में मंकीपॉक्स वायरस फैलने का केस सामने आने के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO ने भी चिंता जताई है। WHO ने मंकीपॉक्स का शिकार होने वाले लोगों को जानवरों के संपर्क में न आने की सलाह दी है। WHO के आपात निदेशक माइकल रयान के अनुसार, यह एक ज्यादा खतरनाक स्थिति है। हालांकि उन्हें उम्मीद है कि यह वायरस एक ही कुत्ते में एक इंसान की तुलना में तेजी से नहीं विकसित होगा। लेकिन उन्होंने बताया कि लोगों को सतर्क रहने की आवश्यकता है।मंकीपॉक्स के उपचार में इस कारण आ रही बाधाशोधकर्ताओं की एक अंतर्राष्ट्रीय टीम के नेतृत्व में एक समीक्षा के अनुसार, मंकीपॉक्स पर हाई क्वालिटी, अप टू डेट क्लिनिकल Guidance की कमी दुनियाभर में संक्रमण के प्रभावी और सुरक्षित उपचार में बाधा उत्पन्न कर रही है। ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड, ऑस्ट्रेलिया के ब्रिस्टल यूनिवर्सिटी और लिवरपूल स्कूल ऑफ ट्रॉपिकल मेडिसिन के शोधकर्ताओं ने कहा कि मौजूदा मार्गदर्शन में पर्याप्त विवरण का अभाव है, यह विभिन्न समूहों को शामिल करने में विफल है और विरोधाभासी है। उन्होंने कहा कि गाइडलाइन्स स्पष्ट न होने से मंकीपॉक्स के रोगियों का इलाज करने वाले चिकित्सकों के बीच अनिश्चितता है, जो रोगी की देखभाल को प्रभावित कर सकती है। टीम ने अक्टूबर 2021 के मध्य से मई 2022 के बीच कई भाषाओं में प्रकाशित प्रासंगिक सामग्री के लिए छह प्रमुख शोध डेटाबेस की खोज की।'मंकीपॉक्स' नाम कैसे पड़ा?1958 में पहली बार 'मंकीपॉक्स' वायरस नाम दिया गया था। प्रमुख प्रकारों की पहचान उन भौगोलिक क्षेत्रों द्वारा की गई थी। जहां इसका प्रकोप हुआ था। डब्ल्यूएचओ ने जुलाई के अंत में आधिकारिक तौर पर घोषणा की कि बहु-देशीय मंकीपॉक्स का प्रकोप इस समय अंतरराष्ट्रीय चिंता का एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपातकाल बन गया है। बुधवार को प्रकाशित मंकीपॉक्स के प्रकोप पर डब्ल्यूएचओ की स्थिति रिपोर्ट के अनुसार, दुनिया भर के 89 देशों और क्षेत्रों में अब तक 27,814 प्रयोगशाला-पुष्टि के मामले सामने आए हैं। इस बीमारी से 11 मौतें हुई हैं, जिनमें यूरोप और अमेरिका सबसे अधिक प्रभावित हुआ है।

भारत में 45 नए डेटा केंद्र बनाने की योजना,  2025 तक डेटा सेंटर की मांग 2,100 मेगावाट होने की उम्मीद

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदओलंपिक में जगह बना चुके नौकाचालकों के अभ्यास पर 73.14 लाख खर्च करेगा खेल मंत्रालय******नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुके सेलर (पाल नौकाचालक) नेत्रा कुमानन (लेजर रेडियल), विष्णु सर्वानन (लेजर स्टैंडर्ड) तथा केसी गणपति और वरुण ठक्कर (स्किफ 49ईआर) टोक्यो ओलंपिक खेलों से पहले यूरोप में अभ्यास करेंगे। खेल मंत्रालय के मिशन ओलंपिक विभाग ने शुक्रवार को इन खिलाड़ियों के संबंधित प्रस्तावों को मंजूरी दी।इन चारों के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अभ्यास का कुल खर्चा 73.14 लाख रुपये आएगा। भारतीय खेल प्राधिकरण के बयान के अनुसार सर्वानन को ओमान में मुसानाह ओपन सेलिंग चैंपियनशिप के जरिये तोक्यो ओलंपिक में जगह बनाने के बाद लक्ष्य ओलंपिक पोडियम कार्यक्रम (टॉप्स) में शामिल किया गया था।वह अपने कोच के साथ माल्टा में 28 दिन का अभ्यास करेंगे। खेल मंत्रालय ने उनके पुर्तगाल के विलमोरा में 14 दिन के अभ्यास के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है। उनके लिये कुल 26.46 लाख रुपये का बजट मंजूर किया गया है। मुसानाह ओपन के बाद ही टॉप्स में जगह बनाने वाली कुमानन स्पेन के ग्रैन कनारिया में 28 दिन तक अभ्यास करेगी।इसके बाद वह हंगरी में अभ्यास करने के अलावा प्रतियोगिताओं में भी हिस्सा लेगी। उनके लिये 20.54 लाख रुपये का बजट मंजूर किया गया है। गणपति और ठक्कर पुर्तगाल के कासकैस में 28 दिन का अभ्यास करेंगे। इन दोनों के लिये 26.14 लाख रुपये का बजट मंजूर किया गया है। गणपति और ठक्कर को भी मुसानाह ओपन के बाद टॉप्स में जगह मिली थी।

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदAsia Cup 2022 : भारत बनाम पाकिस्तान मैच और दुबई कनेक्शन, आप भी हैरान रह जाएंगे******Highlightsएशिया कप 2022 की तैयारियां तेजी से आगे बढ़ रही हैं। इसका शेड्यूल जारी हो गया है और 27 अगस्त को पहला मैच खेला जाएगा। उद्घाटक मुकाबले में श्रीलंका और अफगानिस्तान की टीमें आमने सामने होंगी और इसके बाद होगा सांसें रोक देने वाला मैच, यानी भारत बनाम पाकिस्तान। भारत और पाकिस्तान के बीच मैच का अलग ही रोमांच होता है। दोनों टीमें आपस में सीरीज नहीं खेलती हैं, लेकिन कोई बड़ा टूर्नामेंट होता है तो फिर सभी नजरें इस मैच पर आ ही जाती हैं। भारत और पाकिस्तान के बीच इससे पहले टी20 विश्व कप 2021 में दोनों के बीच टक्कर हुई थी, जिसमें पाकिस्तान ने टीम इंडिया को दस विकेट से करारी शिकस्त दी थी। ये पहली बार था कि विश्व कप में पाकिस्तानी टीम ने भारतीय क्रिकेट टीम को मात दी हो। खास बात ये है कि टी20 विश्व कप का ये मैच यूएई के दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम पर खेला गया था और इस बार भी इत्तेफाक ऐसा है कि भारत और पाकिस्तान के बीच 28 अगस्त को होने वाला मुकाबला भी उसी दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम पर खेला जाएगा।टी20 विश्व कप 2021 में जब ये दोनों टीमें आमने सामने थीं तब विराट कोहली टीम इंडिया के कप्तान हुआ करते थे। वहीं बाबर आजम पाकिस्तान के कप्तान थे। टीम इंडिया इस मैच में पहले बल्लेबाजी के लिए मैदान में उतरी तो भारतीय टीम को लगातार जबरदस्त झटके लगे। रोहित शर्मा, केएल राहुल बहुत जल्दी आउट हो गए, इसके बाद सूर्य कुमार यादव भी आउट होकर पवेलियन लौट गए। हालांकि कप्तान विराट कोहली ने कुछ देर संघर्ष किया और अर्धशतक भी जमाया, लेकिन उन्हें किसी भी बल्लेबाज का साथ नहीं मिला। कुछ देर के लिए ़ऋषभ पंत ने उनका साथ दिया था, लेकिन ये नाकाफी था। यही कारण रहा कि टीम इंडिया ने 20 ओवर में सात विकेट खोकर केवल 151 रन बनाए थे। ये मैच 24 अक्टूबर 2021 को खेला गया था। यानी करीब दस महीने बाद ये महामुकाबला फिर से होगा। टीम इंडिया की ओर से दिए गए लक्ष्य का पीछा करते हुए पाकिस्तान ने जीत के लिए जरूरी रन 17.5 ओवर में ही जुटा लिए और कोई भी बल्लेबाज आउट नहीं हुआ। कप्तान बाबर आजम ने 52 गेंद पर 68 रन और दूसरे सलामी बल्लेबाज मोहम्मद रिजवान ने 55 गेंद पर 79 रनों की पारी खेली थी।अब दस महीने बाद फिर से भारत और पाकिस्तान के बीच जोरदार टक्कर देखने के लिए मिल सकती है। दस महीने पहले टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली थे और अब कप्तानी की जिम्मेदारी रोहित शर्मा पर है। तब से लेकर अब तक कई खिलाड़ी भी बदल चुके हैं। कुछ नए खिलाड़ी आए हैं और कुछ टीम से बाहर चल रहे हैं। अभी टीम इंडिया के कई खिलाड़ी बीच बीच में आराम कर रहे थे, लेकिन पूरी संभावना है कि विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह और केएल राहुल जैसे खिलाड़ियों की वापसी होगी। पाकिस्तान ने तो एशिया कप के लिए अपनी टीम का ऐलान भी कर दिया है, वहीं टीम इंडिया का ऐलान आठ अगस्त को किया जा सकता है। अभी भारत और वेस्टइंडीज के बीच पांच टी20 मैचों की सीरीज के दो मैच बाकी हैं, जो छह और सात अगस्त को खेले जाएंगे, इसके बाद भारतीय टीम का ऐलान किया जा सकता है। देखना दिलचस्प होगा कि टीम इंडिया उसी दुबई इंटरनेशनल स्टेडियम पर पाकिस्तान से अपनी हार का बदला ले पाती है या नहीं।भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदBhuvneshwar Kumar IND vs PAK: भुवी की स्विंग में उलझे पाकिस्तानी बल्लेबाज, कप्तान बाबर समेत 4 खिलाड़ियों का किया शिकार******Highlights भारत के स्टार स्विंग गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार ने एशिया कप 2022 (Asia Cup 2022) के हाईवोल्टेज मुकाबले में पाकिस्तान के खिलाफ अपनी स्विंगिंग गेंदों का जलवा बिखेरा। उन्होंने टी20 क्रिकेट के नंबर एक बल्लेबाज और पाकिस्तान के कप्तान बाबर आजम समेत चार खिलाड़ियों का शिकार किया। उनकी धारदार गेंदबाजी की बदौलत पाकिस्तान की टीम 19.5 ओवर में 147 रनों पर ढेर हो गई। भुवी ने 4 ओवर में 26 रन देकर 4 विकेट झटके।भारतीय गेंदबाज द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ टी20 इंटरनेशनल में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की बात करें तो भुवनेश्वर कुमार का यह स्पेल हमेशा यादगार रहेगा। भुवी का 4 ओवर में 26 रन देकर 4 विकेट किसी भी भारतीय गेंदबाज द्वारा पाकिस्तान के खिलाफ टी20 में अब तक का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। 73 टी20 इंटरनेशनल में 77 विकेट झटकने वाले भुवनेश्वर कुमार का इस पारी में सबसे बड़ा विकेट रहा बाबर आजम का जिन्हें उन्होंने अपनी बाउंसर के जाल में फंसाया।हार्दिक पंड्या ने भी इस मैच में भुवी का बखूबी साथ निभाया और 4 ओवर में 25 रन देकर तीन विकेट लिए। उनके प्रदर्शन की बात करें तो पाकिस्तान के खिलाफ इससे पहले 2016 एशिया कप में मीरपुर में उन्होंने 3/8 (3.3 overs) अपने नाम किए थे। पहले भुवनेश्वर ने जहां पाकिस्तानी टॉप ऑर्डर को प्रेशर में डाला वहीं इसके बाद हार्दिक ने पाकिस्तान के मध्यक्रम की कमर तोड़ दी। इसके बाद निचले क्रम को भी भुवनेश्वर और अर्शदीप सिंह ने पैर नहीं जमाने दिए।भारत के लिए पिछले टी20 में वेस्टइंडीज के खिलाफ फ्लोरिडा में सभी 10 विकेट स्पिनरों ने अपने नाम किए थे। वहीं इसके तुरंत बात अगले टी20 में जो एशिया कप 2022 में पाकिस्तान के खिलाफ खेला गया उसमें सभी 10 विकेट भारतीय पेसर्स ने झटके। इसमें 4 विकेट भुवी, 3 विकेट हार्दिक पंड्या, 2 विकेट अर्शदीप सिंह और एक विकेट आवेश खान ने अपने नाम किया। इसी के कारण पाकिस्तान की टीम पूरे 20 ओवर नहीं खेल पाई और ऑलआउट भी हो गई।

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदआर माधवन की फिल्म 'रॉकेट्री' की रिलीज डेट हुई कंफर्म, इसरो के वैज्ञानिक के जीवन पर आधारित है फिल्म******बॉलीवुड एक्टर की अपकमिंग मूवी 'रॉकेट्री' की रिलीज डेट कंफर्म हो गई है। ये फिल्म 1 अप्रैल 2022 को रिलीज होगी। इसे हिंदी, इंग्लिश, तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ भाषाओं में रिलीज किया जाएगा। ये माधवन की पहली निर्देशित फिल्म होगी। यह मूवी वैज्ञानिक एस नंबी नारायणन के जीवन पर आधारित है।इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) के वरिष्ठ अधिकारी के तौर पर नारायणन क्रायोजेनिक्स विभाग के प्रभारी थे। साल 1994 में उन पर जासूसी का गलत मामला दर्ज करने के साथ उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था। हालांकि, साल 1996 में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा उन पर लगे आरोपों को खारिज कर दिया गया था, जिसके बाद 1998 में उच्चतम न्यायालय ने उन्हें आरोपों से बरी कर दिया था।फिल्म के बारे में माधवन ने कहा था, "यह फिल्म मेरे लिए जुनून बन गई है। अनंत महादेवन ने नंबी नारायणन की कहानी सुनाई। मुझे लगा कि यह उस व्यक्ति की कहानी है, जिसके साथ अन्याय हुआ, उसे झूठे आरोपों में जेल भेजा गया था। इसके बाद मैंने इस पर लिखना शुरू कर दिया और मुझे इस स्क्रिप्ट को लिखने में सात महीने लगे। फिल्म को लेकर जब मैं उनसे मिला तो उन्होंने कभी भी अपनी उपलब्धियों के बारे में नहीं की लेकिन जब मैंने उनसे इस बारे में जानना चाहा तो मुझे अहसास हुआ कि मैं इस स्क्रिप्ट के साथ अन्याय कर रहा हूं क्योंकि मैंने फिल्म की स्क्रिप्ट में उनके केस के बारे में ही लिखा था। इसलिए जिस स्क्रिप्ट पर मैंने सात महीने लगाए थे, मैंने उसे फेंक दिया और मुझे अनंत महादेवन और अन्य राइटर्स के साथ मिलकर इस फिल्म की स्क्रिप्ट लिखने में डेढ़ साल लगे। मुझे यकीन है कि देश के 95 फीसदी लोगों को नंबी नारायणन के बारे में पता नहीं होगा, जो मुझे लगता है कि अपराध है और जो पांच फीसदी लोग उनके बारे में जानते हैं, वे उनकी पूरी कहानी नहीं जानते।"'रॉकेट्री : द नंबी इफेक्ट' हिंदी, तेलुगू, मलयालम, तमिल, अंग्रेजी और कन्नड़ भाषाओं में रिलीज होगी।(IANS इनपुट)भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदकिसकी लापरवाही से नवी मुंबई का ये स्कूल बना कोरोना का हॉटस्पॉट? 18 छात्र संक्रमित******Highlights नवी मुंबई में कोरोना विस्फोट हुआ है। घनसोली इलाके में स्थित एक स्‍कूल कोरोना का हॉटस्पॉट बन गया है। यहां के 18 छात्र कोरोना संक्रमित पाये गए हैं। नवी मुंबई नगर निगम NMMC के एक अधिकारी ने बताया है कि ये छात्र कक्षा 8 से 11 तक के हैं। इन छात्रों में से एक के पिता 9 दिसंबर को कतर से लौटे थे।अब सवाल उठता है कि आखिर ये स्कूल कोरोना का हॉटस्पॉट कैसे बन गया। दरअसल, टेस्ट की रिपोर्ट का इंतजार किए बिना एक छात्र स्कूल पहुंच गया और करीब दो घंटे तक स्कूल में रहा। अपने अन्य साथियों से मिला। दो घंटे बाद जब उसकी कोविड रिपोर्ट आई तो पूरे स्कूल में हड़कंप मच गया। रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई।कोविड पॉजिटिव बच्चें मिलने की जानकारी सामने आने के बाद अब कई अभिभावकों ने अपने बच्चों को स्कूल भेजने से मना कर दिया है। नगर निगम के मुताबिक स्कूल को शनिवार को सील कर दिया जाएगा।प्राथमिक जांच के अनुसार पता चला है कि 11वीं कक्षा में पढ़ने वाले एक छात्र के पिता हाल ही में कतर से भारत लौटे थे। नवी मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (NMMC) की तरफ से छात्र के पूरे परिवार का रैपिड एंटीजेन टेस्ट किया गया था। सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन जब NMMC ने अहतियात बरतते हुए सभी का आरटीपीसीआर टेस्ट करने का फैसला किया और जब तक RTPCR रिपोर्ट नहीं आती तब तक सभी को होम क्वारंटीन में रहने की सलाह दी गई।लेकिन अगले ही दिन नियम का उल्लंघन करते हुए 11 वीं कक्षा में पढ़ने वाला छात्र सुबह 10 बजे स्कूल आ गया। दोपहर 12 बजे इस छात्र की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन ने पहले परिवार को फोन किया। लेकिन, जब पता चला की ये बच्चा स्कूल गया हुआ है तो प्रशासन के हाथपांव फूल गए। स्कूल के प्रिंसिपल को फोन किया गया और इस छात्र को फौरन ढूंढ कर आयसोलेट करने का आदेश दिया गया। लेकिन, तब तक यह छात्र कई अन्य विद्यार्थीयों से मिल चुका था।पिछले दो दिनों से अबतक 815 बच्चों का कोविड टेस्ट किया जा चुका है। इनमें से 18 बच्चें अबतक पॉजिटिव आ चुके है। सभी बिना लक्षण वाले हैं। इन सभी विद्यार्थीयों और उनके अभिभावकों को आयसोलेट किया गया है।

भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदUmran Malik, T20 World Cup: 'हमेशा आपको ऐसा गेंदबाज नहीं मिल सकता,' उमरान मलिक को लेकर भारतीय दिग्गज ने कही बड़ी बात******HighlightsIPL 2022 में 14 मैचों में 22 विकेट लेकर अपनी रफ्तार और गेंदबाजी की कला से धूम मचाने वाले जम्मू के तेज गेंदबाज उमरान मलिक का नाम लगातार हर किसी की जुबां पर है। आईपीएल में शानदार प्रदर्शन की बदौलत उनका साउथ अफ्रीका के खिलाफ टी20 सीरीज के लिए भारतीय टीम में चयन हुआ। हालांकि पांचों मुकाबलों में वह बेंच पर रहे। आगामी दो मैचों की आयरलैंड सीरीज के लिए भी वह टीम का हिस्सा हैं लेकिन देखना होगा कि क्या वहां भी उन्हें मौका मिलता है या नहीं।इरफान पठान को अक्सर उमरान मलिक के पीछे की तरक्की का एक कारण बताया जाता है। पिछले दिनों भारतीय टीम में चुने जाने के बाद उमरान और पठान साथ में केक कटिंग करते भी नजर आए थे। इसी बीच उमरान मलिक को लेकर इरफान पठान के कुछ बयान भी सामने आए हैं। भारत-साउथ अफ्रीका सीरीज में उमरान को मौका नहीं मिलने से पठान बेहद निराश दिखे और उन्होंने कहा कि, ऐसे गेंदबाज आपको हमेशा नहीं मिलते जो 150 से अधिक की गेंदें फेंक सकें। भारत के पास हमेशा ऐसे गेंदबाजों की कमी रही है।भारत-साउथ अफ्रीका सीरीज का आखिरी मैच रद्द होने के बाद सीरीज के ब्रॉडकास्टिंग चैनल पर इरफान पठान ने उमरान को लेकर बातचीत की। उन्होंने टी20 वर्ल्ड कप में उमरान के चयन की उम्मीद को लेकर कहा कि,"वह अभी तक एक बार भी खेले नहीं हैं। पहले उन्हें अपना डेब्यू करने दीजिए, जहां यह देखना होगा कि वह कैसा करते हैं। लेकिन अगर डेब्यू पर दुर्भाग्यवश वह कुछ खास नहीं कर पाते तो उन्हें किनारे नहीं करना चाहिए।"पठान ने आगे कहा कि,"हमारे पास कभी भी ऐसा गेंदबाज नहीं आया जो 150 किमी/प्रति घंटे की रफ्तार से लगातार गेंदबाजी करे। लेकिन अब हमें वह मिल गया है। उनको बहुत सावधानी से आगे ले जाना होगा। आपको देखना होगा की उनकी क्षमता कितनी है। कितना लंबे वक्त तक उनकी फिटनेस उनका साथ देती है यह भी देखने वाली बात होगी। लेकिन ऐसी चीज है उनके पास 'पेस' जो किसी को सिखाया नहीं जा सका। आप किसी गेंदबाज को तेज गेंद फेंकना नहीं सिखा सकते। दुनिया का कितना भी अच्छा कोच क्यों ना हो वह सिर्फ गेंदबाज को बेहतर ही कर सकता है तेज नहीं।"उन्होंने आगे कहा कि,"आप एक अच्छी ट्यूनिंग उनके साथ कर सकते हैं। जैसे हमने पीछे किया भी है। भारतीय टीम उसे और भी अच्छा कर सकती है। लेकिन अगर हम भारतीय टीम में सेलेक्शन की बात करें तो पहले उन्हें कम से कम डेब्यू करने देना चाहिए। अगर वह अच्छा करते हैं तो उन्हें आगे ले जाइए। वरना खराब करने पर उन्हें और ज्यादा कड़ी ट्रेनिंग देकर उनका ध्यान रखना चाहिए। क्योंकि ऐसे गेंदबाज आपको हमेशा नहीं मिल सकता।"आपको बता दें कि 2021 आईपीएल का दूसरा चरण कोरोना से प्रभावित होने के बाद दुबई में होना था। सनराइजर्स हैदराबाद के गेंदबाज टी नटराजन कोरोना संक्रमित हो गए। इसके बाद टीम में एंट्री हुई उमरान मलिक की। उन्होंने उस सीजन 3 मैच खेले और कुल 2 विकेट लिए। लेकिन उन्होंने दुनिया को अपनी गति से दस्तक दे दी थी कि भारत के पास एक तेजतर्रार गेंदबाज आ गया है। इसके बाद आईपीएल 2022 में उन्होंने 14 मुकाबलों में 22 विकेट अपने नाम कर लिए।भारतमें45नएडेटाकेंद्रबनानेकीयोजना2025तकडेटासेंटरकीमांग2100मेगावाटहोनेकीउम्मीदविधानसभा चुनाव 2022: निर्वाचन आयोग ने पदयात्राओं की अनुमति दी, प्रचार प्रतिबंध की अवधि घटाई******Highlights निर्वाचन आयोग ने पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव प्रचार पर कोविड-19 के कारण लगे प्रतिबंधों में शनिवार को ढील देते हुए सीमित संख्या में लोगों के साथ पदयात्राओं की अनुमति दे दी और साथ ही प्रचार अभियान पर प्रतिबंध की अवधि कम कर दी।आयोग के अनुसार, चुनाव प्रचार अब सुबह आठ बजे से रात आठ बजे तक के बजाय सुबह छह बजे से रात 10 बजे के बीच किया जा सकता है। इससे उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों को एक दिन में प्रचार करने के लिए चार घंटे और मिलेंगे। ने आठ जनवरी को उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गोवा, पंजाब और मणिपुर के लिए मतदान कार्यक्रम की घोषणा करते हुए कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के चलते प्रत्यक्ष रैलियों, रोड शो और पदयात्राओं पर प्रतिबंध लगा दिया था। आयोग समय-समय पर महामारी की स्थिति की समीक्षा कर रहा है और कुछ छूट दे रहा है।निर्वाचन आयोग ने एक बयान में कहा कि राजनीतिक दल और उम्मीदवार निर्धारित खुले स्थानों की क्षमता के अधिकतम 50 प्रतिशत या राज्य आपदा प्रबंधन अधिकारियों द्वारा निर्धारित सीमा, जो भी कम हो, के साथ खुले क्षेत्रों में प्रचार कर सकते हैं। अभी तक सभा और रैलियों जैसे बाहरी आयोजनों की सीमा खुली जगह या मैदान की क्षमता का 30 प्रतिशत थी।पदयात्राओं पर निर्वाचन आयोग ने कहा कि इस तरह के जमावड़े में राज्य आपदा प्रबंधन अधिकारियों द्वारा अनुमत संख्या से अधिक लोग शामिल नहीं हो सकते। विधानसभा चुनाव 10 फरवरी को शुरू हुए और सात मार्च को समाप्त होंगे। परिणाम 10 मार्च को घोषित किए जाएंगे।

(संपादक:डैज़हाऊ)

सम्बंधित जानकारी
  • फैंस को लुभा रही है सिद्धार्थ शुक्ला और सोनिया राठी की लव स्टोरी, 'ब्रोकन बट ब्यूटीफुल 3' को IMDB पर मिली 9.3 की रेटिंग
  • आगरा में डंपर और कार के बीच भीषण टक्कर, 3 लोगों की मौके पर ही मौत
  • सरकार चमड़ा, फुटवियर उद्योग के लिए प्रोत्साहन योजना को 2025-26 तक बढ़ा सकती है
  • रुपए ने लगाया और गोता, डॉलर का भाव बढ़कर 65.88 तक पहुंचा, जानिए कमजोर रुपए के फायदे और नुकसान
  • हीरो इलेक्ट्रिक ने अपने लोकप्रिय मॉडलों की कीमत 33 फीसदी तक घटाई
  • हरियाणा में 3 राजमार्ग परियोजनाओं का उद्घाटन और 8 का शिलान्यास, लागत 20,000 करोड़ रुपये
  • IPL 2022: ईशान किशन ने ऑक्शन में मिली मोटी रकम पर दिया बयान, विराट और रोहित के लिए कही ये बात
  • Stuart Broad STATS: स्टुअर्ट ब्रॉड ने पहली गेंद पर दिए 16 रन, टेस्ट में एक ओवर में सबसे ज्यादा रन देने वाले गेंदबाज बने
नवीनतम सामग्री
अनुशंसित सामग्री
  • प्रणॉय ने वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप में ढहाई चीन की 'दीवार', पांच बार के वर्ल्ड चैंपियन लिन डेन को दी मात
  • UP Election 2022: हाथरस में इस बार किस ओर है हवा? पिछली बार BJP ने लहराया था परचम
  • ‘सुपर 30’ के संस्थापक आनंद कुमार अमेरिका में गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में होंगे मुख्य आकर्षण
  • 'पाकिस्तान में 2023 में होने वाला एशिया कप 50 ओवरों का होगा'
  • महाराष्ट्र में 51 हजार से ज्यादा किसानों को सूखा राहत के तौर पर दिए गए 21 करोड़ रुपये
  • 'द कश्मीर फाइल्स' के डायरेक्टर विवेक अग्निहोत्री के खिलाफ मुंबई पुलिस में शिकायत, भोपाली लोगों को बताया था 'होमो सेक्सुअल'
गर्म सामग्री